CMS क्या है सीएमएस का यूज कैसे करते हैं

नमस्कार दोस्तों यदि आप भी अपनी वेबसाइट बनाने की सोच रहे हो या ब्लॉग बनाने की सोच रहे हो या फिर आप ब्लॉगिंग कर इंटरनेट से पैसे कमाने की सोच रहे हो। 

तो आपने सीएमएस का नाम जरूर सुना होगा तब आपके मन में सवाल उठे होंगे कि यह CMS क्या है, CMS ka full form kya hai, सीएमएस का यूज कैसे करते हैं और CMS के कितने प्रकार हैं। 

Internet की इस दुनिया में आपको जितनी भी website दिखने हो मिलती उसमें से ज्यादातर सीएमएस का Use कर ही बनाई गई हैं। 

सीएमएस की मदद से आप बिना कोडिंग सीखे वेबसाइट बना सकते हो और CMS से वेबसाइट बनाने में काफी कम समय लगता है। 

तो दोस्तों यदि आपको भी CMS से संबंधित विषय पर जानकारी चाहिए तो इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें। 

CMS क्या है सीएमएस का यूज कैसे करते हैं

CMS क्या है – What is CMS in Hindi?

CMS का full form Content Management System है एक प्रकार का सॉफ्टवेयर है जिसकी मदद से किसी भी website को बिना किसी तकनीकी ज्ञान (technical knowledge) या बिना coding सीखे बहुत ही आसानी से बना सकते हैं। 

सीएमएस को क्यों बनाया गया है

जैसा कि दोस्त आप जानते होंगे कि किसी भी वेबसाइट को बनाने के लिए coding language जैसे HTML, Java & PHP का ज्ञान होना जरूरी होता है। 

इसी वजह से कोई आम इंसान जिसे इन सब चीजों में इंटरेस्ट है या वह ब्लॉगिंग करके पैसे कमाने की सोच रहा है या इंटरनेट से पैसा कमाने की सोच रहा है। 

किंतु उसे टेक्निकल और कोडिंग लैंग्वेज की ज्ञान ना होने के कारण मैं अपना ब्लॉग या वेबसाइट नहीं बना सकता। 

इसलिए दुनिया के अच्छे सॉफ्टवेयर एवं वेबसाइट डेवलपर ने प्रोग्रामिंग language के use से कुछ ऐसे सॉफ्टवेयर बनाएं हैं जिनकी मदद से आप बिना किसी कोडिंग किए अपनी वेबसाइट या ब्लॉग बहुत ही आसानी से बना सकते हैं इन software ही CMS कहते हैं।

कुछ Famous CMS के नाम Blogger, WordPress, Joomla, Drupal, Magento (e-commerce) और Wix हैं। 

CMS कैसे काम करता है – How CMS works in Hindi?

1. सीएमएस के द्वारा आप वेबसाइट का Development या Website को management बहुत ही आसानी से कर सकते हैं। 

2. सीएमएस अपने user को वेबसाइट बनाने के लिए बहुत ही Easy Interface Provide करता है जिसे आप बहुत ही आसानी से use कर सकते हैं। 

3. CMS में जब हम किसी पोस्ट को लिखते हैं तब server या backend पर वही code चल रहे होते हैं परंतु हमें अपनी भाषा में दिखाई देते हैं। 

4. आप वहां पर view-source करके आप अपने कोड को देख भी सकते हैं यदि आपसे प्रोग्रामिंग लैंग्वेज नहीं आती तो आप इस तरह की code अपने से नहीं लिख पाते लेकिन सीएमएस की मदद से आप जब content लिखते हो तो इस तरह code अपने आप backend में लिखते जाते हैं। 

5. CMS की मदद से हम किसी भी प्रकार का डाटा इमेज वीडियो या कोई भी कंटेंट को ब्लॉग या वेबसाइट में बहुत ही आसानी से one click में डाल सकते हैं। 

6. किसी भी CMS में आपको बहुत ही अच्छी-अच्छी theme मिल जाती है जिनकी मदद से आप अपनी वेबसाइट की डिजाइनिंग को और भी अच्छा कर सकते हैं और one click में change भी कर सकते हैं। 

7. किसी भी नए feature को add करने के लिए आप उसके plugin को install कर बहुत ही easy तरीके से कर सकते हैं। 

8. WordPress CMS की मदद से अपनी वेबसाइट या ब्लॉग SEO भी कर सकते हैं SEO की मदद से आप अपनी website को गूगल के first page पर rank करा सकते हैं। 

9. आज हमारे पास बहुत सारे सीएमएस प्रोग्राम open source software और फ़्री में available हैं। 

10. आज WordPress को लगभग 75 million’s से ज्यादा Websites use कर रहीं हैं यह इंटरनेट की कुल वेबसाइट का एक चौथाई भाग से भी ज्यादा है। 

CMS से कौन कौन से प्रकार की वेबसाइट बना सकते हैं

CMS की मदद से आप लगभग हर तरह की वेबसाइट ना सकते हैं नीचे मैं आपको कुछ types की वेबसाइट के नाम बताने जा रहा हूं जिसे आप सीएमएस की मदद से बना सकते हैं। 

  • Blog
  • News Websites
  • Social media Websites
  • E-commerce Website
  • Business Websites
  • Portfolio Website
  • Business directory
  • Online forum Website
  • Review Website
  • Statics Website
  • Coupons Website
  • Lyrics Website
  • School / College Management Websites
  • Online Examination System
  • Tool Websites

इसके अलावा भी आप कई और तरह की भी वेबसाइट बना सकते हो। 

CMS Software के उदाहरण – (Example of CMS in Hindi)

सीएमएस के वैसे तो बहुत प्लेटफार्म है लेकिन मैं आपको कुछ बेस्ट प्लेटफॉर्म के नाम बताने जा रहा हूं जो इस प्रकार हैं –

WordPress

यह world में सबसे ज्यादा उपयोग किए जाने वाला CMS प्लेटफार्म है इस platform में इंटरनेट की एक चौथाई से ज्यादा वेबसाइट बनी है। 

WordPress PHP में बना हुआ है इंटरनेट में जितने भी लोग ब्लॉगिंग करते हैं उनकी पहली पसंद वर्डप्रेस ही होती है। 

वर्डप्रेस मैं आपको बहुत सी themes और plugin देखने को मिल जाती है जिससे आप one-click में install कर सकते हैं और अपने वेबसाइट में नए feature और website की design को बिना किसी coding के ज्ञान easy तरीक़े से customize कर सकते हैं। 

Joomla

यह भी ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर प्लेटफार्म है यह आपको वर्डप्रेस की तुलना में कुछ एडवांस फीचर प्रदान कराता है। 

वर्डप्रेस की तरह इसे भी install करना और इस पर काम करना बहुत ही easy होता है

Joomla में भी आपको plugins और extension देखने को मिल जाते है जिनकी मदद से आप अपनी वेबसाइट की डिजाइनिंग अच्छी कर सकते हो। 

यहां पर आपको कुछ अच्छे paid resources मिल जाते हैं। 

Drupal

यह भी एक open source software platform है इसके यूजर मैनेजमेंट सिस्टम, permission सेटिंग एवं security features की वजह से business websites, sarkari संस्थाओं की वेबसाइट, online portal website आदि के लिए बहुत अच्छा platform है। 

Drupal का use करना थोड़ा मुश्किल होता है किन्तु आपको web development का knowledge है तो यह platform आपके लिए best हो सकता है। 

Blogger

दोस्तों यदि CMS की बात चल रही है तो हम ब्लॉगर को कैसे भूल सकते हैं यह भी एक सीएमएस है जो बिल्कुल फ्री है। 

Blogger में आपको किसी भी प्रकार की Hosting के लिए पैसे नहीं देने होते हैं Google के द्वारा आपको में Hosting और unlimited bandwidth दी जाती है। 

लेकिन दोस्त तो बाकी की तरह यह ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर प्लेटफॉर्म नहीं है ब्लॉगर पर बने किसी भी ब्लॉग की ownership Google के पास ही रहती है। 

Conclusion

जैसे कि दोस्तों मैं आशा करता हूं कि आपके मन में चल रहे सवालों जैसे कि CMS क्या है CMS ka full form kya hai, सीएमएस का यूज कैसे करते हैं और CMS के कितने प्रकार हैं आदि का जवाब आपको मिल गया होगा। 

अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई है तो अपने दोस्तों साथ शेयर जरूर करें और यदि आपके मन में अभी भी कुछ तरह का प्रश्न रह गया है तो आप कमेंट कर अवश्य पूछे मैं जल्द से जल्द उसका जवाब देने की कोशिश करूंगा। 

धन्यवाद मेरे प्रिय मित्रों,

Leave a Comment